मानसिक बीमारियों से कोई पीड़ित हो, तो अपनाये ये है रामबाण उपाय

If someone is suffering from mental illnesses, then follow this remedy/WorldCreativities

If someone is suffering from mental illnesses, then follow this remedy/WorldCreativities

दीप्ति के एग्जाम में कम नंबर आये। इस वजह से वो बहुत उदास रहती है। आजकल दोस्तों से भी कम मिलती है। आज बहुत दिनों बाद जब से मिलने गयी, उसने पीछे से किसी दोस्त को कहते सुना, “अरे वो तो पागल हो गयी है, डिप्रेशन में चली गयी है, हर समय मुंह बनाये बैठी रहती है।” 

इसके बाद दोस्तों में कुछ ठहाके लगे लेकिन दीप्ति का दिल बैठ गया। वो और उदास हो गयी। उसे नहीं मालूम था कि वो डिप्रेशन से जूझ रही है या एग्जाम में कम नंबर की वजह से उदास है। लेकिन दोस्तों के बीच ऐसा मखौल उड़ना उसके लिए बेहद डिस्टर्बिंग था।

अक्सर जब भी बात किसी की मानसिक समस्या की आती है, हम सभी थोड़े इंसेंसिटिव हो जाते हैं। बीते एक साल ने इस बात को थोड़ा बदला है। एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के आत्महत्या से निधन के बाद बहुत से सेलेब्स ने अपने मेंटल हेल्थ के बारे में बात की है। लेकिन न्यूज़ चैनल्स पर कई महीनों तक हर दिन मानसिक समस्याओं का खूब मजाक उड़ा है। 

हम जानते हैं कि आप अच्छे इंसान है और जानबूझ कर किसी को हर्ट नहीं करना चाहते। लेकिन शब्दों की कमी, नॉलेज का अभाव आदि वो वजहें बनती हैं जब हम किसी को जाने अनजाने में मानसिक समस्या से जुड़ी ऐसी बात कह देते हैं जिससे उनकी मुश्किल और भी बढ़ जाती है। 

चलिए आपको कुछ ऐसी मानसिक बीमारियों के बारे में बताते हैं जिनसे समाज में बहुत से लोग जूझ रहे हैं। साथ ही आपको वो तरीके भी बताते हैं जिनसे आप इस बीमारी का संबोधन सही ढंग से कर सकते हैं। 

आज के दौर में डिप्रेशन, एंग्जायटी, बाईपोलर डिसऑर्डर, बॉर्डर लाइन पर्सनालिटी डिसऑर्डर जैसी मानसिक समस्याएं ज्यादा से ज्यादा खुलकर सामने आ रही हैं। ये अच्छी बात है कि सेलिब्रिटीज इस बारे में बात कर रहे हैं। इससे हम सभी को मानसिक समस्याओं को नॉर्मलाइज करने में मदद मिल रही है। ये समस्याएं किसी को भी हो सकती हैं और यही समझने के लिए जरूरी है कि इसके बारे में मजाक उड़ाने की जगह सही ढंग से बात की जाए। 

चलिए आपको बताते हैं कुछ ऐसे तरीके जिनसे आप मेंटल हेल्थ के बारे में बात करते हुए अधिक सेंसिटिव हो सकते हैं। 

मानसिक बीमारी को किसी धब्बे की तरह इस्तेमाल ना करें

should not use as a slur@worldcreativities

मानसिक समस्याएं एक बहुत बड़ा और वृहद टॉपिक है। यह किसी व्यक्ति की समस्या बता सकता है लेकिन यह उसे डिफाइन नहीं करता। जब आप किसी से कहते हैं कि फलाने व्यक्ति को डायबिटीज है तो इसका यह मतलब नहीं होता ना कि डायबिटीज उस व्यक्ति की जिंदगी है। इस बीमारी के अलावा उस व्यक्ति का कोई अस्तित्व नहीं है। 

इसी तरह जब आप किसी व्यक्ति के मानसिक समस्याओं के बारे में बात करते हैं तो उसे पागल, बेवकूफ, साइकोटिक आदि शब्द इस्तेमाल करने की बजाय आप यह कह सकते हैं कि यह व्यक्ति  एक मानसिक समस्या से जूझ रहे हैं।

अक्सर मानसिक समस्याओं के इर्द-गिर्द एक अजीब किस्म का डर छुपा होता है। जब हमको पता चलता है कि कोई व्यक्ति किसी मानसिक समस्या से जूझ रहा है तो हमें उससे अजीब सा डर महसूस होने लगता है। हमें लगता है कि वो हमारे लिए खतरनाक है और हम उनसे दूरी बनाने लगते हैं।

लेकिन जब आपको पता चलता है कि किसी व्यक्ति को दिल की समस्या है तो क्या आप उस से दूरी बनाते हैं? जिस तरह हर दिल का मरीज हार्ट अटैक का शिकार नहीं होता उसी तरह हर मानसिक समस्या का मरीज हर वक्त डिप्रेस्ड जा सुसाइडल नहीं होता।

 मानसिक समस्याओं में बहुत से इश्यूज़ है जो छोटे और बड़े हो सकते हैं। इसीलिए इन शब्दों को किसी को नीचा दिखाने या एक धब्बे की तरह इस्तेमाल ना करें। यह उनके बारे में एक छोटी सी जानकारी है और इसे इसी तरह से इस्तेमाल करें।

पनी भाषा को जितना अधिक संयमित रख सकें, उतना ही बेहतर है। जिस तरह से आप शारीरिक बीमारियों को देखते हैं, उसी तरह से मानसिक बीमारियों को दिखा जाना जरूरी है। तभी इनके इर्द-गिर्द बना हुआ टैबू दूर होगा। 

‘अरे वह तो डिप्रेस्ड या बाइपोलर है’ ऐसा कहने से बचें

depressed or bipolar@worldcreativities

अक्सर जब हमें किसी की मानसिक समस्या के बारे में पता चलता है तो हम उसे उस पर लेबल की तरह चिपका देते हैं। अगर कोई व्यक्ति डिप्रेशन के साथ जी रहा है तो हम उसे डिप्रेस्ड ही मान लेते हैं। जब आप किसी व्यक्ति को ऐसा लेबल देते हैं तो इसका मतलब यह होता है कि वह हर वक्त डिप्रेस्ड है और वह कभी खुश नहीं हो सकता।

लेकिन जब आप यह कहते हैं कि वह व्यक्ति डिप्रेशन या बाइपोलर डिसऑर्डर के साथ जी रहा है, इसका मतलब है कि यह बीमारियां उनके जीवन का एक हिस्सा हैं। वह इन बीमारियों से लड़ रहे हैं और इनसे जूझते हुए एक आम जिंदगी जीने की कोशिश कर रहे हैं। ठीक वैसा ही है जैसा कोई व्यक्ति डायबिटीज कैंसर या कार्डियक डिसऑर्डर के साथ करता है। 

जब हम उन्हें इस बीमारी के साथ जीता हुआ इमेजिन करते हैं तो हमारे मन से उनकी एक बीमार छवि दूर हो जाती है। हम उन्हें अपने जैसा ही देख पाते हैं और उनसे लगने वाला हमारा डर खत्म हो जाता है। 

‘अरे उसका तो दिमाग खराब हो गया है’ यह कहने से बचें

she lost her mind @worldcreativities

अगर किसी को लीवर से संबंधित कोई बीमारी होती है तो क्या आप उसका जिक्र करते हुए खीजकर यह कहते हैं “अरे उसका तो लीवर खराब हो गया है” नहीं ना?

क्योंकि यह हमारे हाथ में नहीं होता। इसी तरह जब किसी व्यक्ति को मानसिक समस्या होती है तो यह उसके हाथ में और कंट्रोल में नहीं होते। ऐसे में उसे जनरलाइज करते हुए या कहना कि उसका तो दिमाग ही खराब है बेहद असंवेदनशील बात है। यह कहने से बचें। अगर आपको किसी से उनका जिक्र करना है तो कहें कि वह व्यक्ति मानसिक समस्या से जूझ रहा है। 

वह तो बिल्कुल नॉर्मल व्यवहार नहीं करता’ ऐसा कहने से भी बचें

behaving normal@worldcreativities

नॉर्मल व्यवहार क्या होता है यह हर व्यक्ति के लिए अलग हो सकता है, है ना? हो सकता है किसी के लिए घर में सारा दिन बैठकर टीवी देखना एक नॉर्मल व्यवहार हो।  उसी तरह किसी अन्य व्यक्ति के लिए दिन भर में 15 घंटे काम करना एक नॉर्मल व्यवहार हो। 

ऐसे में जब आप किसी मानसिक समस्या से जूझ रहे व्यक्ति के बारे में नार्मल व्यवहार का जिक्र करते हैं तो यह उन्हें गलत रोशनी में पेश करता है। हम नहीं जानते कि किसी अन्य व्यक्ति का नार्मल क्या है क्योंकि नॉर्मल व्यवहार कि आज तक कोई क्लियर परिभाषा नहीं बनी है। इसीलिए जब आप किसी व्यक्ति के व्यवहार का जिक्र कर रहे हो तो नॉर्मल की बजाय उसके आम व्यवहार या यूजुअल व्यवहार का जिक्र करें। इससे यह साबित होगा कि यह व्यक्ति अभी तक जैसा व्यवहार करता आया है अब भी वैसा ही व्यवहार कर रहा है। इसमें नॉर्मल और एबनॉर्मल जैसा कुछ भी नहीं है। 

‘सुसाइड कमिट किया’, ‘आत्महत्या की’, या ‘अपनी जान ली’ जैसी बातों से बचें

suicidal thoughts@worldcreativities

उनकी जगह आप कह सकते हैं कि उस व्यक्ति की आत्महत्या से जान गई या सुसाइड द्वारा उनका निधन हुआ। जब किसी व्यक्ति की कार एक्सीडेंट में मौत होती है तो क्या हम यह कहते हैं कि उसने कार एक्सीडेंट कमिट किया? नहीं ना?

जिस तरह से अन्य एक्सीडेंट्स या प्राकृतिक रूप से किसी व्यक्ति का निधन होता है उसी तरह सुसाइड द्वारा निधन का भी जिक्र किया जाना चाहिए। जब आप कहते हैं कि किसी ने अपनी जान ली या सुसाइड कमिट किया तो यह उसे एक अपराधी की कैटेगरी में डाल देता है, जैसे अपराधी गुनाह कमिट करता है। 

Join Facebook Group
फ्री आयुर्वेदिक हेल्थ टिप्स ग्रुप में शामिल होने के लिए click करें……देखते हैं कितने #लोग हैं #देशभक्त है जो इस #ग्रुप को #ज्वाइन करते हैं #join करने के लिए नीचे दिए गए #लिंक पर क्लिक करें और भी बहुत सारी बातो ओर जानकारियों के लिए नीचे तुरंत देखे बहुत ही रोचक जानारियां नीचे दी हुई है
💋💋💋💋💋💋💋💋💕💕💕💕💕💕💕💕🌾🌾🌾🌾🌾🌾🍃🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🕉🕉🕉🕉🕉😍😍😍🌹🌹
https://www.facebook.com/groups/614541922549349/?ref=share
🕉अगर आप 🌄महादेव के सच्चे 💯भक्त हैं तो इस ग्रुप को ज्यादा से ज्यादा💐 लोगों को #शेयर करें और अपने #फ्रेंड्स को #इन्वाइट करे जिससे कि ये ग्रुप #महादेव का सबसे #बड़ा ग्रुप 🌺बन सकें#ज्यादा से ज्यादा शेयर जरुर करे#🙏#JaiMahadev 🕉#jaimahakaal🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉
https://www.facebook.com/groups/765850477600721/?ref=share
🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉
जो लोग relationship में है या होना चाहते है तो इन पेज को लाइक और शेयर जरुर करें 💕💕
https://www.facebook.com/relationshlovezgoals/
https://www.facebook.com/Relationship-love-goals-105353711339414/
https://www.facebook.com/belvojob/
हमारे #धार्मिक और #सांस्कृतिक और #प्राचीन #सस्कृति के लिए फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करे💁👇👇👇
Friends company को ज्वाइन करें और अपने मन पसंद दोस्तो से बात करे 👇👇👇🌸🌼💋
https://www.facebook.com/groups/1523649131190516/?ref=share
Jai Durga maa ऐसे ही धार्मिक और सांस्कृतिक आध्यात्मिक भक्ति और जानकारियों के लिए
नीचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करें और अपने सभी दोस्तों को इन्वाइट करें 💐🙏👇👇
https://www.facebook.com/groups/388102899240984/?ref=share
I&S Buildtech Pvt Ltd किसी को कही प्रॉपर्टी खरीदनी और बेचनी हो तो इस ग्रुप को ज्वाइन करें,👇👇👇
https://www.facebook.com/groups/790189985072308/?ref=share
Best health tips men’s and women’s हैल्थ टिप्स एक्सरसाइज टिप्स फिटनेस
टिप्स वेट लॉस टिप्स ऐसी ही ढेर सारी जानारियां देखने और समझने के लिए इस ग्रुप को ज्वाइन करें 👇👇👇
https://www.facebook.com/groups/351694099217895/?ref=share
Vedgyan🌲💐🌺🌻🌼🌸🌲🌲🌿🍃🌾🌾🍁🍂🌴🌳🌲🍀🌵🏜️👇👇👇
https://www.facebook.com/groups/624604661500577/?ref=share
Relationship love goals 💕💕💕💕💕💕💕💕💕💕💕💕👇👇👇👇
https://www.facebook.com/groups/774627156647519/?ref=share
Belvo jobs groups जिनके पास जॉब नहीं है जॉबलेस हैं उनके लिए ये ग्रुप बेहद एहम है
नीचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करें और अपने सभी फ्रेंड्स और दोस्तों को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें 👇👇👇👇
https://www.facebook.com/groups/694117461150454/?ref=share
Blue diamonds group इस ग्रुप में आपको वीडियो स्टेटस मिलेगा ३० सेकंड का
वह आप what’s app status पर और fb status prr lga skte h #join करने के
लिए नीचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करें👇👇👇👇👇👇👇😍😍💋💋💋
https://www.facebook.com/groups/4326320604105617/?ref=share
Prachin chanakya niti प्राचीन चाणक्य नीति की जानकारियों के लिए नीचे दिए हुए
लिंक पर क्लिक करें और अपने सभी फ्रेंड्स को इन्वाइट जरूर करें 🌲👇👇👇👇🕉 🕉
https://www.facebook.com/groups/369329114441951/?ref=share
Mujhse Dosti karoge bolo जो लोग अकेले है और बात करना चाहते है
तो ये ग्रुप ज्वाइन करे 👇👇👇
https://www.facebook.com/groups/780080659505186/?ref=share
Only truly lovers जो सच्चा प्यार करते है अपने लवर को वही ज्वाइन करे 👇👇
https://www.facebook.com/groups/225480217568019/?ref=share
किर्प्या इन सब फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करे और हमारे नई उप्लोडेड हेल्थ टिप्स को पढ़े
और ज्यादा से ज्यादा लोगो को शेयर अवस्य करे धन्यवाद्

help-to-poor-people-in-diwali-4

Donates

donates a small amount of money for helpless, poor, and needy peoples

$66.00

11 thoughts on “मानसिक बीमारियों से कोई पीड़ित हो, तो अपनाये ये है रामबाण उपाय

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s