5 तरह की होती है चाय, और इनके अनेक फायदे

There are 5 types of tea, and their many benefits/WorldCreativities

There are 5 types of tea, and their many benefits/WorldCreativities

चाय की शुरुआत पूर्वी एशिया से हुई थी, लेकिन आज विभिन्न प्रकार की चाय दुनियाभर के लोगों की फेवरेट ड्रिंक बन चुकी है। बीते कुछ सालों में पश्चिम के देशों में चाय को लेकर काफी रिसर्च भी हुई हैं। कई स्टडीज में ये देखा गया है कि स्वास्थ्य पर चाय का काफी सकारात्मक असर होता है।

कुछ स्टडीज से ये पता चला है कि चाय कैंसर के खतरों को भी कम करती है। इसके अलावा कई अन्य बीमारियों में भी चाय से लाभ हो सकता है। चाय मेंटल अलर्टनेस बढ़ाने में भी मददगार होती है। कुछ डायटीशियन कॉफी की जगह चाय पीने को एक बेहतर विकल्प मानते हैं क्योंकि चाय में कैफीन कम होता है।

कितने तरह की होती है चाय- Types of Tea

benefits and harms of tea

यूं तो बहुत सारे ड्रिंक्स को चाय का नाम दिया गया है जिनमें से कई में चाय की पत्तियां मौजूद नहीं होती। लेकिन कुछ लोग सिर्फ ग्रीन, ब्लैक, व्हाइट, ओलॉन्ग और पु-एरह (Pu-erh) टी को ही असल चाय मानते हैं। ये सभी चाय कैमेलिया साइनेन्सिस प्लांट (चाय का पौधा) से तैयार की जाती हैं। इसे मूल रूप से भारत और चीन में उगाया जाता है। 

इन सभी चाय में फ्लेवोनॉयड्स नाम के खास एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं। फ्लेवोनॉयड्स हार्ट के लिए अच्छा होता है और कैंसर के खतरे को भी कम करता है। कैमेलिया साइनेन्सिस प्लांट से जुड़ी चाय में कैफीन और थिएनाइन भी मौजूद होते हैं जो दिमाग पर असर डालते हैं और मेंटल अलर्टनेस बढ़ाते हैं। वहीं, जिन चाय की पत्तियों को अधिक प्रोसेस किया जाता है उनमें फ्लेवोनॉयड्स की मात्रा घट जाती है। ओलॉन्ग और ब्लैक टी ऑक्सीडाइज्ड या फर्मेंटेड की गई होती हैं। इसलिए इनमें ग्रीन टी के मुकाबले फ्लेवोनॉयड्स की मात्रा काफी कम होती है, लेकिन एंटीऑक्सीजाइजिंग पॉवर अधिक होती है। आइए एक-एक कर जानते हैं अलग-अलग प्रकार की चाय और उनके फायदों के बारे में !

ग्रीन टी- Green Tea

benefits and harms of tea

स्टीम की हुई चाय की पत्तियों से ग्रीन टी तैयार की जाती है। इस चाय में Epigallocatechin Gallate (EGCG) नाम के कंपाउंड की मात्रा काफी अधिक होती है। EGCG हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक पाया गया है। ग्रीन टी में मौजूद यह कंपाउंड इन्फ्लेमेशन रोकने, हार्ट और ब्रेन की बीमारियों के खतरों को कम करने में मदद करता है। साथ ही वजन कम करने में भी लाभ पहुंचाता है। ग्रीन टी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स ब्लैडर, ब्रेस्ट, लंग, स्टमक (पेट), पैंक्रियाटिक कैंसर के खतरे को कम कर सकते हैं। ग्रीन टी अल्ज़ाइमर और पार्किंसंस बीमारियों के खतरों को भी कम करता है और कोलेस्ट्रॉल लेवल नियंत्रित करता है। 

ब्लैक टी- Black Tea

benefits and harms of tea

चाय की फर्मेंटेड पत्तियों से ब्लैक टी तैयार की जाती है। फ्लेवर्ड टी में भी इसका इस्तेमाल होता है और इसमें कैफीन की मात्रा सबसे अधिक होती है। कुछ स्टडीज से ये पता चला है कि सिगरेट स्मोकिंग से फेफड़े को होने वाले नुकसान को कम करने में ब्लैक टी मददगार होती है। स्ट्रोक के खतरों को भी ब्लैक टी कम करती है। कम कैफीन, कम कैलोरी और बिना आर्टिफिशियल स्वीटनर वाले ड्रिंक के रूप में ब्लैक टी एक बेहतर विकल्प समझा जाता है। ब्लैक टी में गुड कोलेस्ट्रॉल बढ़ाने, गट हेल्थ बेहतर करने और ब्लड प्रेशर घटाने के गुण पाए जाते हैं।

व्हाइट टी- White Tea

व्हाइट टी सबसे कम प्रोसेस की हुई चाय होती है। एक स्टडी में ये सामने आया था कि अन्य चाय के मुकाबले व्हाइट टी में सबसे अधिक एंटी कैंसर गुण मौजूद होते हैं। आमतौर पर वजन घटाने के लिए ग्रीन टी का सेवन किया जाता है, लेकिन फैट कम करने के लिए व्हाइट टी भी उतना ही असरदार होती है। ग्रीन और व्हाइट, दोनों चाय में कैफीन और EGCG कंपाउंड की मात्रा लगभग बराबर होती है। एक अन्य स्टडी के मुताबिक, व्हाइट टी बॉडी का मेटाबॉलिज़्म बढ़ाने में भी मदद करता है और इसमें स्किन एजिंग कम करने के गुण भी मौजूद होते हैं।

ओलॉन्ग टी- Oolong tea

चाय की पत्तियों, कोंपलों और तनों को मिलाकर ओलॉन्ग टी बनाई जाती है। दुनिया में कुल इस्तेमाल की जाने वाली चाय में ओलॉन्ग टी का हिस्सा सिर्फ 2 फीसदी है। बावजूद इसके ओलॉन्ग टी से कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं। अगर ओलॉन्ग टी का सही मात्रा में सेवन किया जाए तो यह मेटाबॉलिज्म बेहतर करने और स्ट्रेस कम करने में मदद करता है। ओलॉन्ग टी बैड कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम भी कर सकता है। वजन कम करने, कैंसर के खतरे घटाने और ब्रेन फंक्शन बेहतर करने में भी ओलॉन्ग टी मदद करता है। ओलॉन्ग टी की एक क्वालिटी वुयी (Wuyi) टी होती है जिसे वेट लॉस सप्लीमेंट के तौर पर बेचा जाता है।

हर्बल टी- Herbal Tea

हर्ब, फ्रूट, सीड्स और रूट्स को गर्म पानी में डालकर तैयार किए गए ड्रिंक को हर्बल टी कहा जाता है। हर्बल टी में ग्रीन, व्हाइट, ब्लैक और ओलॉन्ग टी के मुकाबले एंटीऑक्सीडेंट्स की मात्रा कम होती है। जिंजर, जैस्मिन, मिंट, हिबिस्कस हर्बल टी में शामिल होते हैं। कुछ स्टडीज में ऐसे संकेत मिले हैं हर्बल टी वजन कम करने, जुकाम से बचाने और अच्छी नींद में मदद कर सकती है। आइए जानते हैं कुछ हर्बल टी के फायदे-

1. कैमोमाइल टी- Chamomile tea

benefits and harms of tea

कैमोमाइल टी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स डायबिटीज़, आंखों की रोशनी कम होने, किडनी के नुकसान और कैंसर सेल के ग्रोथ से बचा सकते हैं।

2. इचिनेशिया टी- Echinacea Tea

इचिनेशिया टी को जुकाम ठीक करने की घरेलू औषधि के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। ब्लड शुगर कम करने और ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को कम करने के गुण भी इसमें पाए जाते हैं।

3. गुड़हल-हिबिस्कस टी – Hibiscus Tea

benefits and harms of tea

एक स्टडी में ये सामने आया था कि रोज़ तीन कप गुड़हल टी पीने से कुछ लोगों को ब्लड प्रेशर कम करने में मदद मिली। गुड़हल टी लीवर हेल्थ बेहतर करने और वजन घटाने में भी मददगार हो सकती है।

4. रेड टी- Red Tea or Rooibos

रेड टी दक्षिण अफ्रीका के फर्मेंटेड हर्ब रोइबॉस (Rooibos) से तैयार किया जाता है। रेड टी में फ्लेवोनॉयड्स कंपाउंड होते हैं जिसमें एंटी कैंसर गुण देखा गया है। 

चाय के नुकसान- Side Effects of Tea

ज्यादातर चाय को हेल्थ के लिए अच्छा समझा जाता है। लेकिन एक दिन में 3-4 कप से अधिक चाय पीने पर कई साइड इफेक्ट्स देखने को मिल सकते हैं। आइए जानते हैं चाय के प्रमुख साइड इफेक्ट्स –

1. आयरन अब्जॉर्प्शन घटाती है- Reduce iron absorption

चाय में टैनिस (Tannins) नाम का कंपाउंड काफी मात्रा में पाया जाता है। यह कंपाउंड खासकर प्लांट फूड से आयरन अब्जॉर्प्शन को कम कर देता है। अगर शाकाहारी खाना खाने वाले किसी व्यक्ति के शरीर में आयरन का लेवल कम है तो उसे अधिक चाय पीने से अधिक नुकसान हो सकता है। हालांकि, रोज 3 या इससे कम कप चाय सुरक्षित समझा जाता है। 

2. एंग्जाइटी और स्ट्रेस बढ़ा सकती है चाय- Tea may increase anxiety and stress

benefits and harms of tea

चाय की पत्तियों में प्राकृतिक तौर से कैफीन की मात्रा होती है। चाय के जरिए अगर हम अधिक मात्रा में कैफीन का सेवन करते हैं तो इससे एंग्जाइटी और स्ट्रेस की कुछ समस्या हो सकती है। एक सामान्य कप चाय (240ml) में 11 से 61mg तक कैफीन होता है। वहीं, एक दिन में 200 mg तक कैफीन सेवन करने पर किसी परेशानी की आशंका कम रहती है। लेकिन इसकी मात्रा बढ़ने पर नुकसान हो सकता है। बता दें कि ब्लैक टी में ग्रीन और व्हाइट टी के मुकाबले कैफीन की मात्रा अधिक होती है। वहीं, हर्बल टी में कैफीन की मात्रा नहीं होती। 

3. लग जाती है तो छूटती नहीं इसकी लत- Tea dependence

कैफीन में लत लगने के गुण होते हैं। इसलिए कुछ लोगों को चाय पीने की भी लत लग सकती है। इसकी वजह से चाय नहीं पीने पर उन्हें सिर दर्द और हार्ट बीट बढ़ने की समस्या हो सकती है। 

4. अच्छी नींद नहीं आती- Tea may cause poor sleep

benefits and harms of tea

चाय में मौजूद कैफीन की वजह से आपकी स्लीप साइकिल प्रभावित हो सकती है और आपकी नींद कमजोर हो सकती है। वहीं, कुछ लोगों में अधिक कैफीन की वजह से सिर दर्द की समस्या भी हो सकती है। हालांकि, रेगुलर चाय पीने वाले लोगों में कैफीन से सिर दर्द ठीक होते भी देखा गया है। 

5. प्रेगनेंसी में दिक्कत – Tea may cause pregnancy complications

प्रेग्नेंसी के दिनों में अधिक चाय पीने से दिक्कत हो सकती है। अधिक कैफीन के सेवन से प्रेगनेंसी के दिनों में मिसकैरेज और नवजात बच्चे का वजन कम हो सकता है। हालांकि, कुछ स्टडीज में ऐसे संकेत मिले हैं कि 200 से 300 mg तक रोज कैफीन से नुकसान होने के खतरे कम रहते हैं।

Join Facebook Group (और भी लेटेस्ट पोस्ट के लिए हमारे फेसबुक ग्रुप को जरूर ज्वाइन करे)
फ्री आयुर्वेदिक हेल्थ टिप्स ग्रुप में शामिल होने के लिए इस #ग्रुप को #join करने के लिए नीचे दिए गए #लिंक पर क्लिक करें और भी बहुत सारी बातो ओर जानकारियों के लिए नीचे तुरंत देखे बहुत ही रोचक जानारियां नीचे दी हुई है
💋💋💋💋💋💋💋💋💕💕💕💕💕💕💕💕🌾🌾🌾🌾🌾🌾🍃🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🕉🕉🕉🕉🕉😍😍😍🌹🌹
https://www.facebook.com/groups/614541922549349/?ref=share
🕉अगर आप 🌄महादेव के सच्चे 💯भक्त हैं तो इस ग्रुप को ज्यादा से ज्यादा💐 लोगों को #शेयर करें और अपने #फ्रेंड्स को #इन्वाइट करे जिससे कि ये ग्रुप #महादेव का सबसे #बड़ा ग्रुप 🌺बन सकें#ज्यादा से ज्यादा शेयर जरुर करे#🙏#JaiMahadev 🕉#jaimahakaal🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉
https://www.facebook.com/groups/765850477600721/?ref=share
🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉
जो लोग relationship में है या होना चाहते है तो इन पेज को लाइक और शेयर जरुर करें 💕💕
https://www.facebook.com/relationshlovezgoals/
https://www.facebook.com/Relationship-love-goals-105353711339414/
https://www.facebook.com/belvojob/
हमारे #धार्मिक और #सांस्कृतिक और #प्राचीन #सस्कृति के लिए फेसबुक ग्रुप ज्वाइन करे💁👇👇👇
Friends company को ज्वाइन करें और अपने मन पसंद दोस्तो से बात करे 👇👇👇🌸🌼💋
https://www.facebook.com/groups/1523649131190516/?ref=share
Jai Durga maa ऐसे ही धार्मिक और सांस्कृतिक आध्यात्मिक भक्ति और जानकारियों के लिए
नीचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करें और अपने सभी दोस्तों को इन्वाइट करें 💐🙏👇👇
https://www.facebook.com/groups/388102899240984/?ref=share
I&S Buildtech Pvt Ltd किसी को कही प्रॉपर्टी खरीदनी और बेचनी हो तो इस ग्रुप को ज्वाइन करें,👇👇👇
https://www.facebook.com/groups/790189985072308/?ref=share
Best health tips men’s and women’s हैल्थ टिप्स एक्सरसाइज टिप्स फिटनेस
टिप्स वेट लॉस टिप्स ऐसी ही ढेर सारी जानारियां देखने और समझने के लिए इस ग्रुप को ज्वाइन करें 👇👇👇
https://www.facebook.com/groups/351694099217895/?ref=share
Vedgyan🌲💐🌺🌻🌼🌸🌲🌲🌿🍃🌾🌾🍁🍂🌴🌳🌲🍀🌵🏜️👇👇👇
https://www.facebook.com/groups/624604661500577/?ref=share
Relationship love goals 💕💕💕💕💕💕💕💕💕💕💕💕👇👇👇👇
https://www.facebook.com/groups/774627156647519/?ref=share
Belvo jobs groups जिनके पास जॉब नहीं है जॉबलेस हैं उनके लिए ये ग्रुप बेहद एहम है
नीचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करें और अपने सभी फ्रेंड्स और दोस्तों को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें 👇👇👇👇
https://www.facebook.com/groups/694117461150454/?ref=share
Blue diamonds group इस ग्रुप में आपको वीडियो स्टेटस मिलेगा ३० सेकंड का
वह आप what’s app status पर और fb status prr lga skte h #join करने के
लिए नीचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करें👇👇👇👇👇👇👇😍😍💋💋💋
https://www.facebook.com/groups/4326320604105617/?ref=share
Prachin chanakya niti प्राचीन चाणक्य नीति की जानकारियों के लिए नीचे दिए हुए
लिंक पर क्लिक करें और अपने सभी फ्रेंड्स को इन्वाइट जरूर करें 🌲👇👇👇👇🕉 🕉
https://www.facebook.com/groups/369329114441951/?ref=share
Mujhse Dosti karoge bolo जो लोग अकेले है और बात करना चाहते है
तो ये ग्रुप ज्वाइन करे 👇👇👇
https://www.facebook.com/groups/780080659505186/?ref=share
Only truly lovers जो सच्चा प्यार करते है अपने लवर को वही ज्वाइन करे 👇👇
https://www.facebook.com/groups/225480217568019/?ref=share
किर्प्या इन सब फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करे और हमारे नई उप्लोडेड हेल्थ टिप्स को पढ़े
और ज्यादा से ज्यादा लोगो को शेयर अवस्य करे धन्यवाद्

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s